कालसर्प दोषों के द्वारा मिलनेवाले कष्ट एवं उसका सरल उपाय ।। Kalsarpa Dosh fal & Upay

महापद्म आदि कुछ और कालसर्प दोषों के द्वारा मिलनेवाले कष्ट एवं उसका सरल उपाय ।। Kalsarpa Dosh fal & Upay.

 

हैल्लो फ्रेण्ड्सzzz,

 

मित्रों, मैंने अपने पहले लेख में पदम् नामक कालसर्प योग के विषय में वर्णन किया था । अब आज हम महापद्म नामक कालसर्प योग के विषय में बातें करेंगे ।।

 

जब कुण्डली के छठे स्थान में राहु व बारहवें स्थान में केतु बैठता है तथा बाकी के सभी ग्रह इन दोनों के बीच में बैठे हों तो महापद्म नामक कालसर्प दोष निर्मित होता है ।।

 

मित्रों, जिस जातक की कुण्डली में ये दोष होता है, वो जातक कर्जे में डूबा रहता है । ऐसा जातक तरह-तरह की बीमारी के कारण दवाईयों में अत्यधिक धन खर्च करता है ।।

 

ऐसे जातक का अकारण ही लोगों से दुश्मनी होते रहती है जिसके कारण कोर्ट कचहरी के व्यर्थ ही चक्कर लगाना पड़ता है । इस प्रकार जातक भारी कर्जे से दब जाता है ।।

 

इस दोष को दूर करने अथवा इन मुश्किलों से बचने का आसान उपाय है अमावस्या के दिन पितरों को शांत कराने हेतु दान आदि करें तथा कालसर्प दोष की शान्ति करवायें ।।

 

मित्रों, तक्षक नाम का कालसर्प योग किसी कुण्डली में तब बनता है जब सातवें स्थान में राहु व लग्न में केतु बैठा हो तथा बाकी के सभी ग्रह इन दोनों के बीच में बैठे हों ।।

 

ऐसे जातक का दांपत्य जीवन बहुत ही कष्टकारी बन जाता है । सप्तम में राहु मारक प्रभाव युक्त हो जाता है तथा यहां बैठकर राहु अलगाव, मतभेद एवं दांपत्य सुख में कमी करता ही है ।।

 

Related Posts

Contact Now