प्रतिदिन के गृहकलह से छुटकारा पाने का सहज उपाय ।।

प्रतिदिन के गृहकलह से छुटकारा पाने का सहज उपाय ।।

Grihakalah Se Chhutkare Ka Saral Upaya.

 

हैल्लो फ्रेण्ड्सzzz,

 

मित्रों, प्रतिदिन के घर के झगड़े, आपसी कलह, परिवार के सदस्यों में आपसी तनाव घर की शान्ति को निगल जाते हैं । इसकी शान्ति के लिये केवल अगर आप चाहेंगे की भगवान के भरोसे से शान्ति हो जाय तो ये भी संभव नहीं है । इसके लिये आपको भी प्रयत्न करना पड़ेगा ।।

 

ज्योतिष एवं वास्तु शास्त्र में भी इसके कई कारण बताये गए हैं तथा इसका निदान भी बताया गया है । परन्तु हमारे शास्त्र कहते हैं, कि जिसके पास खुद के चक्षु न हों तो शास्त्रस्तस्य करोति किं ? अर्थात अपना विवेक यदि काम करना बंद कर दे तो शास्त्र भी उसके लिये क्या कर सकता है ?।।

 

मित्रों, फिर भी शास्त्रों के बताये गये मार्ग का अनुशरण करना ही चाहिये । शास्त्रों में बताये गये उपायों को अपनाकर एक हद तक हम अपनी जिन्दगी को बेहतर बना सकते हैं । ऐसा ही कुछ उपाय हमारे वास्तु शास्त्र में बताया गया है, जिसे आज मैं आपलोगों को बताता हूँ ।।

 

वास्तु शास्त्र के अनुसार यदि आपके घर में निरंतर झगड़े होते रहते हैं, तो आपको अपने घर के शयनकक्ष की उत्तर दिशा की दीवार पर दो हंसों के जोड़ों की तस्वीर लगानी चाहिए अथवा दो सारसों के जोड़ों की तस्वीर भी लगा सकते हैं ।।

 

मित्रों, शयनकक्ष की उत्तरी दीवार पर यदि इस प्रकार का कोई खिलखिलाता हुआ तस्वीर आप लगाते हैं तो आपके घर में कलह कलेश नहीं होगा तथा आपका दाम्पत्य जीवन भी सुखपूर्वक बितेगा । सबके चेहरे पर हँसी एवं खुशियाँ बनी रहेंगी इसके वजह से ।।

 

==============================================

 

वास्तु विजिटिंग के लिये तथा अपनी कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें ।।

 

==============================================

 

किसी भी तरह के पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं ।।

 

==============================================

 

संपर्क करें:- बालाजी ज्योतिष केंद्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा ।।

WhatsAap+ Viber+Tango & Call: +91 - 8690 522 111.
E-Mail :: astroclassess@gmail.com

 

वेबसाईट. ब्लॉग. फेसबुक.

 

।। नारायण नारायण ।।

Latest Articles