आज का लेख एवं आज 06 फरवरी 2018 दिन मंगलवार का पंचाग ।।

बालाजी वेद, वास्तु एवं ज्योतिष विद्यालय, सिलवासा ।।
आज का लेख एवं आज 06 फरवरी 2018 दिन मंगलवार का पंचाग ।।
आज 06 फरवरी के लिये कुछ विशेष एवं पञ्चांग ।।
Aaj-06-february-ka-Panchang.

 

=======================

 

विक्रम संवत् - 2074.

संकल्पादि में प्रयुक्त होनेवाला संवत्सर - साधारण.

शक - 1939.

अयन - उत्तरायण.

गोल - याम्य.

ऋतु - शिशिर.

मास - फाल्गुन.

पक्ष - कृष्ण.

गुजराती पंचांग के अनुसार - माघ कृष्ण पक्ष.

 

===================

 

तिथि - षष्ठी 08:02 AM बजे तक उपरान्त सप्तमी तिथि है ।।

नक्षत्र - चित्रा 10:54 AM तक उपरान्त स्वाति नक्षत्र है ।।

योग - शूल 11:02 AM बजे तक उपरान्त गण्ड योग है ।।

करण - वणिज 08:02 AM तक उपरान्त विष्टि 20:17 PM बजे तक उपरान्त बव करण है ।।

 

चन्द्रमा - तुला राशि पर ।।

सूर्योदय - प्रातः 07:13:40

सूर्यास्त - सायं 18:30:40

 

राहुकाल (अशुभ) - दोपहर 15:00 बजे से 16:30 बजे तक ।।

विजय मुहूर्त - दोपहर 12.41 बजे से 13.05 बजे तक ।।

षष्ठी तिथि विशेष - मित्रों, षष्ठी तिथि को तैल कर्म एवं सप्तमी तिथि को आँवला खाना तथा दान करना भी वर्ज्य बताया गया है । षष्ठी तिथि के स्वामी भगवान शिव के पुत्र स्वामी कार्तिकेय हैं तथा नन्दा नाम से विख्यात यह तिथि शुक्ल एवं कृष्ण दोनों पक्षों में मध्यम फलदायीनी मानी जाती है । इस तिथि में स्वामी कार्तिकेय जी के पूजन से सभी कामनाओं की पूर्ति होती है । विशेषकर वीरता, सम्पन्नता, शक्ति, यश और प्रतिष्ठा कि अकल्पनीय वृद्धि होती है ।।

 

आपके उपर यदि मंगल कि दशा चल रही हो और आप किसी प्रकार के मुकदमे में फंस गये हों तो भगवान कार्तिकेय का पूजन करें । मुकदमे में अथवा राजकार्य से सम्बन्धित किसी कार्य में सफलता प्राप्ति के लिये षष्ठी तिथि के सायंकाल में शिवमन्दिर में छः दीप दान करें । कहा जाता है, कि स्वामी कार्तिकेय को एक नीला रेशमी धागा चढ़ाकर उसे अपने भुजा पर बाँधने से शत्रु परास्त हो जाते हैं एवं सर्वत्र विजय कि प्राप्ति होती है ।।

 

मित्रों, जिस व्यक्ति का जन्म षष्ठी तिथि को होता है, वह व्यक्ति सैर-सपाटा पसंद करने वाला होता है । इन्हें देश-विदेश घुमने का कुछ ज्यादा ही शौक होता है अत: ये काफी यात्राएं करते रहते हैं । इनकी यात्रायें मनोरंजन और व्यवसाय दोनों से ही प्रेरित होती हैं । इनका स्वभाव कुछ रूखा जैसा होता है और छोटी छोटी बातों पर भी लड़ने को तैयार हो जाता हैं ।।

 

=============================

 

मंगलवार को नए कपड़े न ही खरीदना चाहिये और न ही पहली बार पहनना चाहिए । मंगलवार वाहन एवं भूमि-भवन आदि भी नहीं खरीदना चाहिये ।।

 

मंगलवार का विशेष - मंगलवार के दिन तेल मर्दन (शरीर में तेल मालिश) करने से आयु घटती है - (मुहूर्तगणपति) ।।

 

मंगलवार को क्षौरकर्म (बाल दाढी अथवा नख काटने या कटवाने) से भी आयु की हानि होती है ।। (महाभारत अनुशासनपर्व) ।।

 

दिशाशूल - मंगलवार को उत्तर दिशा की यात्रा नहीं करनी चाहिये, यदि अत्यावश्यक हो तो कोई गुड़ खाकर यात्रा कर सकते है ।।

 

=======================

 

मंगलवार को जिनका जन्म होता है, वो जातक स्वभाव से उग्र, साहसी, प्रयत्नशील एवं महत्वाकांक्षी होते हैं । इनमें नेतृत्व की क्षमता अन्यों के मुकाबले बहुत अधिक होती है । ऐसे लोग जिम्मेदा‍‍रियों के कार्य में सफल भी होते हैं । खिलाड़ी, पहलवान, सेना तथा पुलिस विभाग में सफल रहते हैं । यह जातक अधिकांशतः रक्तवर्ण या गेहूंआ रंग होता है ।।

 

मंगलवार को जन्म लेनेवाला जातक जटिल बुद्धि वाला होता है । ये किसी भी बात को आसानी से नहीं मानते हैं । ऐसे लोग शक्की किस्म के होते हैं इसलिये सभी बातों में इन्हें कुछ न कुछ खोट दिखाई देता है । ये युद्ध प्रेमी और पराक्रमी होते हैं तथा अपनी बातों पर कायम रहने वाले होते हैं । जरूरत पड़ने पर ऐसे जातक हिंसा पर भी उतर आते हैं । इनके स्वभाव की एक बड़ी विशेषता है कि ये अपने कुटुम्ब का पूरा ख्याल रखते हैं ।।

 

मंगलवार को जन्‍म लेने वाले व्‍यक्ति स्‍वभावानुसार क्रोधी, उग्र, पराक्रमी, जुझारू, अदम्‍य साहसी, आलोचना सहन न करने वाले और सांग‍ठनिक क्षमता वाले होते हैं । नेतागिरी, पुलिस, सेना, नौकरशाह तथा खिलाड़ी के रूप में इनका कैरियर अधिक सफल रहता है । इनका शुभ अंक 3, 6, 9 तथा शुभ रंग लाल एवं मैरून और इनका शुभ दिन मंगलवार एवं शुक्रवार होता है ।।

 

======================

 

मंगलवार का विशेष टिप्स - यदि आपके जीवन में कभी अचानक ज्यादा खर्च की स्थिति बन जाय, तो किसी भी मंगलवार के दिन हनुमानजी के मंदिर में गुड़-चने का भोग श्रद्धापूर्वक लगाएं । भोग लगाने के बाद वहीँ बैठकर 11 बार हनुमान चालीसा का पाठ भी अवश्य करें ।।

 

मंगलवार के दिन ये विशेष उपाय करें - मंगलवार को हनुमान जी की पूजा का विशेष महत्त्व होता है । आज हनुमान जी को चमेली का तेल चढ़ाना, चमेली के तेल का ही दीपक जलाना तथा माखन का भोग लगाना चाहिये, इससे हर प्रकार की मनोकामना की सिद्धि तत्काल होती है ।।

आज का सुविचार - मित्रों, दुनिया में भगवान का संतुलन कितना अद्भुत हैं, 100 कि.ग्रा. अनाज का बोरा जो उठा सकता हैं वो खरीद नही सकता और जो खरीद सकता हैं वो उठा नही सकता । जब आप गुस्सें में हो तब कोई फैसला न लेना और जब आप खुश हो तब कोई वादा न करना, अगर ये याद रखेंगे तो कभी नीचा नही देखना पड़ेगा ।।

 

========================

 

अरिष्ट अर्थात एक्सिडेन्ट एवं चोट आदि लगने के योग ।।..... आज के इस पुरे लेख को पढ़ने के लिये इस लिंक को क्लिक करें.... वेबसाईट पर पढ़ें:  &   ब्लॉग पर पढ़ें:

 

"सिंह राशि की कुण्डली की सम्पूर्ण विवेचन, भाग-4."।।" - My trending video.

 

"मिथुन राशि की कुण्डली की सम्पूर्ण विवेचन, भाग-4."।।" - My Lalest video. https://youtu.be/_SFvmu1tnZw

 

ज्योतिष के सभी पहलू पर विस्तृत समझाकर बताया गया बहुत सा हमारा विडियो हमारे YouTube के चैनल पर देखें । इस लिंक पर क्लिक करके हमारे सभी विडियोज को देख सकते हैं - Click Here & Watch My YouTube Channel.

 

ज्योतिष से सम्बन्धित अन्य बहुत सारी जानकारियों, ज्योतिष के बहुत से लेख तथा टिप्स & ट्रिक्स पढने के लिये हमारे ब्लॉग एवं वेबसाइट पर जायें तथा हमारे फेसबुक पेज को अवश्य लाइक करें, प्लीज - My facebook Page.

 

 

===========================

 

वास्तु विजिटिंग के लिये तथा अपनी कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें ।।

 

किसी भी तरह के पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं ।।

 

संपर्क करें:- बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा ।।

 

WhatsAap & Call: +91 - 8690 522 111.
E-Mail :: astroclassess@gmail.com

Latest Articles