आज का लेख एवं आज 14 फरवरी 2018 दिन बुधवार का पंचाग ।।

बालाजी वेद, वास्तु एवं ज्योतिष विद्यालय, सिलवासा ।।
आज का लेख एवं आज 14 फरवरी 2018 दिन बुधवार का पंचाग ।।
आज 14 फरवरी के लिये कुछ विशेष एवं पञ्चांग ।।
Aaj-14-february-ka-Panchang.

 

=======================

 

विक्रम संवत् - 2074.

संकल्पादि में प्रयुक्त होनेवाला संवत्सर - साधारण.

शक - 1939.

अयन - उत्तरायण.

गोल - याम्य.

ऋतु - शिशिर.

मास - फाल्गुन.

पक्ष - कृष्ण.

गुजराती पंचांग के अनुसार - माघ कृष्ण पक्ष.

 

======================

 

तिथि - चतुर्दशी 24:00 PM बजे तक उपरान्त चतुर्दशी तिथि है ।।

नक्षत्र - उत्तराषाढा 04:57 AM तक उपरान्त श्रवण नक्षत्र है ।।

योग - व्यतिपात 15:13 PM बजे तक उपरान्त वरियान योग है ।।

करण - विष्टि 11:44 AM बजे तक उपरान्त शकुनी करण है ।।

 

चन्द्रमा - मकर राशि पर ।।

सूर्योदय - प्रातः 07:10:15

सूर्यास्त - सायं 18:34:23

 

राहुकाल (अशुभ) - दोपहर 12:00 बजे से 13:30 बजे तक ।।

विजय मुहूर्त (शुभ) - दोपहर 12.41 बजे से 13.05 बजे तक ।।

चतुर्दशी तिथि विशेष - चतुर्दशी को शहद और अमावस्या को मैथुन त्याज्य होता है । चतुर्दशी तिथि क्रूरा और उग्रा तिथि मानी जाती है, इसके देवता शिवजी हैं । चतुर्दशी को भगवान शिव का ज्यादा-से-ज्यादा पूजन अर्चन एवं अभिषेक करना चाहिये । सामर्थ्य हो तो विशेषकर कृष्ण पक्ष कि चतुर्दशी को विद्वान् वैदिक ब्राह्मणों से विधिवत रुद्राभिषेक करवायें ।।

 

आज की तिथि में भगवान् शिव का रुद्राभिषेक यदि शहद से किया करवाया जाय तो इससे मारकेश कि दशा भी शुभ फलदायिनी बन जाती है । जातक के जीवन कि सभी बाधायें निवृत्त हो जाती है और जीवन में सभी सुखों कि प्राप्ति सजह ही हो जाती है । रिक्ता नाम से विख्यात यह तिथि शुक्ल पक्ष में शुभ और कृष्ण पक्ष में अशुभ फलदायिनी होती है ।।

 

जिस व्यक्ति का जन्म चतुर्दशी तिथि को होता है वह व्यक्ति नेक हृदय का एवं धार्मिक विचारों वाला होता है । इस तिथि को जन्मा जातक श्रेष्ठ आचरण करने वाला होता है अर्थात धर्म के मार्ग पर चलने वाला होता है । इनकी संगति भी उच्च विचारधारा रखने वाले लोगों से होती है । ये बड़ों की बातों का पालन करते हैं तथा आर्थिक रूप से सम्पन्न होते हैं । देश तथा समाज में इन्हें उच्च श्रेणी की मान-प्रतिष्ठा प्राप्त होती है ।।

 

=======================

 

आज बुधवार के दिन ये विशेष उपाय करें - बुधवार गणपति, गजानन, विघ्नहर्ता श्री गणेशजी का दिन है । इसलिये आज के दिन इनकी पूजा का विशेष महत्त्व होता है । आज के दिन गणपति की पूजा के उपरान्त मोदक, बेशन के लड्डू एवं विशेष रूप से दूर्वादल का भोग लगाना चाहिये इससे मनोकामना की सिद्धि तत्काल होती है ।।

 

बुधवार का विशेष - बुधवार के दिन तेल मर्दन अथवा मालिश करने से माता लक्ष्मी प्रशन्न होती हैं और धनलाभ होता है - (मुहूर्तगणपति) ।।

बुधवार को क्षौरकर्म (बाल दाढी अथवा नख काटने या कटवाने) से धन एवं पूण्य का लाभ होता है ।। (महाभारत अनुशासनपर्व) ।।

 

दिशाशूल - बुधवार को उत्तर दिशा की यात्रा नहीं करनी चाहिये, यदि अत्यावश्यक हो, यात्रा करनी ही हो तो धनिया, तिल की वस्तु, ईलायची अथवा पिस्ता खाकर यात्रा कर सकते है ।।

 

========================

 

मित्रों, बुधवार को जन्म लेने वाले व्यक्ति मधुर वाणी बोलने वाले होते हैं । इस तिथि के जातक पठन पाठन में रूचि रखते हैं और ज्ञानी होते हैं । ऐसे लोगों का लेखन में अत्यधिक रूचि होती है और अधिकांशत: इसे अपनी जीवका का साधन भी बना लेते हैं । ये जिस विषय का चयन करते हैं उसके अच्छे जानकार होते हैं । इनके पास धन तो होता है परंतु ऐसे लोग धोखेबाज भी होते हैं ।।

 

ऐसे जातक सामन्य रंग-रूप, बुद्धिमान, लेखक, पत्रकार, प्रकाशक एवं द्विस्वभाव के होते हैं । किसी एक कार्य को न कर अनेक कार्य में जुटे होते हैं । वैसे शान्तिप्रिय रहना इनका स्वभाव होता है । अधिकांशतः मार्केटिंग के क्षेत्र में ऐसे लोगों को उत्तम सफलता मिलती है । बुधवार को जन्‍म लेने वाले हमेशा असमंजस के शिकार रहते हैं । वह एक समय कई कार्यों पर हाथ आजमाने की कोशिश करते हैं, कई बार सफलता मिल भी जाती है और कई बार गिरते भी हैं ।।

 

इनमें छल-कपट नहीं होता और कई बार तो ये दूसरों की गलतियां खुद पर तक ले लेते हैं । इनको लेखन, पत्रकारिता, प्रकाशन, बैंकिंग और मार्केटिंग के क्षेत्र में अपना किस्मत आजमाना चाहिये । इन क्षेत्रों में इन्हें अच्‍छी सफलता की संभावना होती है । इनके लिये बुधवार एवं शुक्रवार का दिन भाग्यवर्धक होता है तथा 3 और 6 इनका लकी नम्बर होता है ।।

आज का सुविचार - मित्रों, यदि जीवन में लोकप्रिय होना हो तो सबसे ज्यादा "आप" शब्द का, उसके बाद "हम" शब्द का और सबसे कम "मैं" शब्द का प्रयोग करना चाहिए । इस संसार में कोई किसी का हमदर्द नहीं होता, लाश को शमशान में रखकर अपने लोग ही पुछ्ते हैं.. और कितना वक़्त लगेगा ।।

=======================

व्यापार एवं धन प्राप्ति के कुछ अत्यंत प्रभावी टिप्स ।।.... आज के इस लेख को पूरा पढने के लिये इस लिंक को क्लिक करें..... वेबसाईट पर पढ़ें:  & ब्लॉग पर पढ़ें:

"मिथुन राशि की कुण्डली की सम्पूर्ण विवेचन, भाग-4."।।" - My trending video.

"कन्या राशि की कुण्डली की सम्पूर्ण विवेचन, भाग-4."।।" - My Lalest video.

ज्योतिष के सभी पहलू पर विस्तृत समझाकर बताया गया बहुत सा हमारा विडियो हमारे YouTube के चैनल पर देखें । इस लिंक पर क्लिक करके हमारे सभी विडियोज को देख सकते हैं - Click Here & Watch My YouTube Channel.

इस तरह की अन्य बहुत सारी जानकारियों, ज्योतिष के बहुत से लेख, टिप्स & ट्रिक्स पढने के लिये हमारे ब्लॉग एवं वेबसाइट पर जायें तथा हमारे फेसबुक पेज को अवश्य लाइक करें, प्लीज - My facebook Page.

===========================

वास्तु विजिटिंग के लिये तथा अपनी कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें ।।

किसी भी तरह के पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं ।।

संपर्क करें:- बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा ।।

WhatsAap & Call: +91 - 8690 522 111.
E-Mail :: astroclassess@gmail.com

Latest Articles