बाथरूम सजा न हो तो बिगडऩे लगते हैं सब काम।।

हैल्लो फ्रेण्ड्सzzz,

वास्तु के अनुसार घर में गलत दिशा में बने बाथरुम से घर में नकारात्मक ऊर्जा का स्तर बढ़ जाता है । जिसके कारण घर के किसी भी सदस्य की तरक्की नहीं हो पाती है । साथ ही बनते काम बिगडऩे लगती है और धन की हानि होती है । वहीं ईशान कोण (उत्तर-पूर्व कोना) पर बाथरूम बना दिया जाए, तो बच्चों की पढ़ाई पर प्रभाव पड़ता है । साथ ही, घर में रहने वाले जातक को मानसिक अशांति रहती है ।।

इसलिए हमारे वास्तुशास्त्र में ईशान कोण पर बाथरूम बनाना पूरी तरह से वर्जित माना गया है । वैसे, घर के बाथरूम के लिए उत्तम दिशाएं दक्षिण, पश्चिम और पूर्व मानी गई हैं । बाथरूम के दरवाजे के ठीक सामने दर्पण कभी न लगाएं । नहाने जाते वक्त हमारे साथ-साथ कुछ नकारात्मक ऊर्जाएं भी बाथरूम में प्रवेश कर जाती हैं ।।

ऐसे में दरवाजे के ठीक सामने दर्पण लगा हुआ हो, तो यह ऊर्जा परावर्तित होकर पुन: घर में लौट आती है । यदि आपके घर में भी ऐसा वास्तुदोष है तो नीचे लिखे उपाय को अपनाएं ये उपाय वास्तुदोष को मिटाने के साथ ही सेहत के मद्देनजर भी महत्वपूर्ण है ।।

वास्तुशास्त्र के मुताबिक बाथरूम में नीले रंग की बाल्टी रखना शुभ होता है । वैसे किसी और रंग की बाल्टियां पहले से घर में मौजूद हैं, तो भी कोई बात नहीं, आप इन्हें भी उपयोग में ला सकती हैं ।।

बाथरूम में रखी बाल्टी हमेशा पानी से भरी रहे, इस बात का खास ख्याल रखें, यह उपाय आपके जीवन में खुशियों के स्थायित्व को बनाए रखने में मददगार होगा ।।

बाथरूम को सजाने के लिए आप प्राकृतिक या पानी के दृश्यों को दर्शाती सीनरी लगा सकती हैं । कहते हैं इससे पानी की कमी जैसी समस्याएं परेशान नहीं करतीं ।।

बाथरूम में इस्तेमाल की जाने वाली चीज़ें साबुन, शैम्पू, स्क्रब आदि हमेशा खुशबूदार और तौलिया, साबुन केस, ब्रश होल्डर आदि खुशनुमा रंग के चुनें ।।

वास्तुशास्त्र के मुताबिक, उत्तर या पश्चिम की दिशा में कमोड लगाना सेहत के लिहाज़ से ठीक माना जाता है । कमोड का ढक्कन हमेशा नीचे की ओर यानी बंद करके रखें । यह कीटाणुओं और नकारात्मक ऊर्जा को फैलने से रोकने में आपकी मदद करेगा ।।

हमारे यहाँ बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य, विद्वान् एवं संख्या में श्रेष्ठ ब्राह्मण उपलब्ध हैं ।।

वास्तु विजिटिंग के लिए अथवा अपनी कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने या कुण्डली बनवाने के लिए ।।

संपर्क करें:- बालाजी ज्योतिष केंद्र, गायत्री मन्दिर के जस्ट बाजू में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा ।।
 
www.astroclasses.com
www.astroclassess.blogspot.in/
www.fb.com/astroclassess

।।। नारायण नारायण ।।।

Latest Articles